Wednesday, 31 August 2017

Many Languages Translator

Tuesday, December 19, 2017

Mera Hamsafar- real love story in hindi

हैलाे फ्रेन्ड्स.....
मेरा नाम गौरव है, और मै आपसे कह दूं कि यह मेरी सच्ची प्रेम कहानी(real love story)  है.

मैं 2010 में 12वीं क्लास में था.मेरे क्लास में 40 boy and 59 Girls  थीं.
उन सभी  Girls  मे से एक लडकी रितु थी, जिससे मुझे प्यार हाे गया.
जब मैने उसे पहली बार देखा... ताे देखता ही रह गया.
उसका वाे मासूम चेहरा, वाे खूबसूरत आंखें, उसकी वो मुस्कान मैं ताउम्र नहीं भूल सकता.
मै उस पर फिदा हाे गया था.हर पल बस उसी के बारे मे
साेचता था.हर जगह मुझे वही दिखाई देती थी.
सच ताे यह था कि मैं उसके प्यार में पागल हो गया था.

आज मुझे एहसास हो गया था कि प्यार किसे कहते हैं.
मैं उससे बात करने, दोस्ती करने की कोशिश करता, पर हिम्मत नहीं जुटा पाता, राज नये -नये प्लान्स बनाता पर हिम्मत नही हाेती.

फिर एक दिन हिन्दी की क्लास थी, सर थाेडा लेट आने वाले थे. सब स्टूडेन्ट्स आपस में बाते कर रहे थे.... मैने रितु की तरफ देखा आैर हिम्मत करके एक स्माइली दी आैर उसने भी स्माइली दी.
क्या बताएं दाेस्ताे उस समय मै कितना खुश था.

उसके बाद हम कॉलेज के बाहर मिले.. बाते की... परिचय किया.
आप सभी मेरी    real love story in hindi (सच्ची प्रेम कहानी)  पढ रहे हैं.

उसके बाद हम राज मिलते, बाते करते, हम अच्छे दोस्त बन गये.
19 Jan 2011 काे मैने उसे प्रपाेज किया,उसने कुछ जवाब नहीं दिया, बेाली साेचकर बताती हूं.
मेरी बेचैनी बढ गयी थी... मैं पूरी रात साे नही पाया. मैने उसे मैसेज भी किया बट उसने काेई जवाब नहीं दिया.
मै यही साेचता रहा कि कही काेई गलती ताे नही हुई ना.

अगले दिन मै कॉलेज गया, रितु कही दिखी नही.
मै कॉलेज के गार्डन मे उदास बैठा था कि पीछे से आवाज आयी.... ओये पागल...
मैने देखा ताे ओ रितु था आैर उसने मुस्कुराते हुये हां कह दी.
वाे मेरे लाइफ की सबसे बड़ी खुशी थी. सबसे बड़ा दिन था.
मैने रितु काे गले लगा लिया... मेरे अाखाे से आंसू
निकलने लगे, वा खुशी के आंसू थे. सारे स्टूडेन्ट्स हमे घेरकर तालियां बजा रहे थे. वह लम्हा बहुत ही खूबसूरत था.
मुझे मेरा प्यार मिल गया... मेरा हमसफ़र मिल गया.

GUEST POST

Hello doston...Mai ABHISHEK PANDEY is HINDI BEST STORY hindi blog men aapaka SWAGAT karata hun. Agar aap men se kisi ko bhi GUEST POST likhana hai to mujhase SAMPARK kare. NIYAM AUR SHARTEN>>>>> Guest Post kahin par bhi PUBLISH na ki gayi ho. 2-Yah HINDI men honi chahiye...Aap Angreji Word ka prayog kar sakate hain. 3- Isamen koi bhi Vayask Samagri nahin honi chahiye. IS ID PAR APANI KAHANI BHEJ SAKATEE HAIN>>>KOSHISH KAREN KI WAH pdf FILE NA HO. [email protected] [email protected] THANK YOU

Contact Form

Name

Email *

Message *

Featured Post

Phool...hindi kahani

Recent Post

Subscribe Here

Subscribe to my Newsletter