You cannot copy content of this page
image

कनेर का फूल

कनेर का फूल
कनेर का फूल

कनेर का फूल इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको कनेर के फूल की इमेज दे रहे हैं जिसे आप फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं और उसके साथ ही आपको एक मोरल स्टोरी भी दे रहे हैं.

सूफी संतो में राबिया का स्थान बहुत ऊँचा था. वे बड़ी सादगी का जीवन बिताती थीं और सबको बेहद प्यार करती थीं. ईश्वर में उनकी अगाध श्रद्धा थी. उन्होंने अपना जीवन उन्ही को सौप दिया था. एक दिन की बात है. एक व्यक्ति राबिया से मिलने आया.उसके सर पर पट्टी बंधी थी. राबिया ने पूछा ” क्या हुआ ? पट्टी क्यों बंधी है ?”

कनेर का फूल

कनेर का फूल

कनेर का फूल

कनेर का फूल

कनेर का फूल

कनेर

सर में बहुत दर्द है.. उस व्यक्ति ने जवाब दिया

तुम्हारी उम्र कितनी है..राबिया ने पूछा

यही कोई २८ – ३० साल

ठीक है..यह बताओ इन ३० सालों में आप ज्यादा समय बीमार रहे या फिर आपकी तबियत अच्छी रही..राबिया ने पूछा

मैं हमेशा तंदरुस्त रहा …. कभी बीमार नहीं पडा.. उस व्यक्ति ने उत्तर दिया

कनेर का फूल

कनेर फूल

कनेर का फूल

कनेर फूल

तब राबिया मुस्कुरायीं और बोलीं जब तुम कभी बीमार नहीं पड़े तब तुमने एक दिन भी इसके शुकराने में पट्टी नहीं बाधी और अब ज़रा सर में दर्द हो गया तो शिकायत की पट्टी बाँध ली.

कनेर का फूल

कनेर का फूल

कनेर का फूल

कनेर फूल

वह मनुष्य कुछ नहीं बोला… फिर राबिया ने उसे समझाते हुए कहा कि सुख में तो हम भगवान को याद नहीं करते और दुःख आते ही हम भगवान के सामने सारी शिकायत करने लगते हैं. अगर हम सुख में ही भगवान् को याद करें तो दुःख कभी निकट ही नहीं आएगा. मित्रों मेरी स्टोरी और इमेज अगर आपको अच्छी लगी हो तो लाइक, शेयर और सबस्क्राइब करें और दूसरी इमेज के लियी इस लिंक pari ki photo पर क्लिक करें.

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment