Horror Story

aghori sadhu ka rahasya

aghori sadhu ka rahasya आज मैं आप लाेगाें काे अघाेरी साधुओं के रहस्य के बारे में बताने जा रहा हूँ… यह horror story  है…. ..आखिर क्या था  sadhu ka rahasya  ….

स्थान -एक छाेटा मीडिया हाउस
बहुत बहुत मुबारक राधिका त्रिपाठी (नाम काल्पनिक है) जी… जाे आपकाे मुख्य एडिटर ने यह काम साैपा…
धन्यवाद रागिनी जी… यह मेरे लिये बहुत ही सम्मान की बात है… मै इस कार्य काे अवश्य ही पूरा करूंगी.
aghori sadhu ka rahasya

aghori sadhu ka rahasya

मैडम आइये ..एडिटर साहब ने बुलाया है… कार्यालय के चपरासी ने कहा.
ठीक है.. हम आते हैं… राधिका ने प्रतिउत्तर दिया

स्थान… कार्यालय का हाल

ठीक है दाेस्ताे….जैसा कि आपकाे पता ही है कि राधिका त्रिपाठी काे एक मिशन दिया गया है… जिसमे उन्हें अघाेरी साधुओं के नित्य के क्रिया कलाप की जानकारी इकठ्ठा करना है… वे अपने इष्ट काे पाने के लिये किन विधाओं से गुजरते हैं… वे क्या खाते हैं.. क्या पीते हैं… उनकी पूजा विधि क्या है… एेसी ही तमाम जानकारिया राधिका काे एकत्र करनी है… और उसके चित्र लेने हैं… इस कार्य में इनका साथ देंगे नीरज शर्मा ….ठीक है…. मुख्य एडिटर ने सबकाे संबोधित करते हुये कहा

यस सर.. इस एपीसाेड के टेलिकास्ट हाेते ही हमारा चैनल नम्बर 1 हाे जायेगा…..ऐसी जानकारी आज तक किसी ने नही दी है… हमारे चैनेल का बहाेत नाम हाे जायेगा —–नीरज ने खुशी से चहकते हुये कहा
यस.. अवश्य हाेगा.. अब अपने टार्गेट पर ध्यान दाे.. और प्रस्थान की तैयारी कराे — मुख्य एडिटर ने कहा
सबने एक स्वर में यस सर कहा और अपने काम में लग गये.
लेकिन हमें जाना कहा पर है… हम साधुओं की जानकारी कहा से प्राप्त करेंगे… नीरज ने राधिका से कहा.
डाेन्ट वरी नीरज.. सारा इन्तजाम हाे गया है, हमें उत्तराखंड जाना है—राधिका ने कहा
वाव सुपर… उत्तराखंड, बहाेत मजा आयेगा फिर ताे —नीरज शर्मा खुशी से चहकते हुये बाेला
कूल डाउन मिस्टर नीरज शर्मा जी… शायद आप भूल रहें हैं कि हम वहा किसी काम से जा रहे हैं और निर्धारित समय में हमे वापस आना हैं—–राधिका ने कहा

ओके मैडम… आइंदा इसका ख्याल रहेगा… नीरज ने कहा

गुड… बट एक समस्या है.. तुम्हें इस बारे में बहाेत ऐतिहात बरतनी पड़ेगी —-राधिका ने थाेडा़ चिन्तित स्वर में कहा
कैसी समस्या मैडम… क्या काेई खतरा है वहा —नीरज थाेड़ा डरकर बाेला
अरे नही… वाे क्या है कि हमें वहा से केवल साधु लाेगाें के क्रिया कलापाे के देखने और लिखने की छूट मिली है.. हम वहा किसी भी प्रकार का विडियाे या फाेटाे शूट नही कर सकते हैं…. राधिका ने कहा
ओह!  ताे फिर.. क्या हाेगा.. नीरज ने प्रश्न किया
क्या हाेगा क्या… तुम्हें उनके बिना पता लगे ही फाेटाे निकालने हाेगे… यह कार्य बहुत ही सावधानी से करना होगा….राधिका ने कहा
ओके मैडम… मै कर लूंगा.. मैने बहुत सारे स्टिंग किये हैं…. नीरज ने कान्फिडेन्ट से कहा
गुड.. इसीलिए तुम पर भराेसा किया गया है… राधिका ने कहा
अब वे लाेग उत्तराखंड के अघाेरी साधुओं के आश्रम कि आेर निकले और प्लेन से कुछ घंटाे के सफर के बाद वहा पहाेच गये… फिर बस के माध्यम से ऊपर नीचे हाेती सड़काे से वे अपने गंतव्य तक पहुंचे.
वहा उन्हें लेने प्रकाश शुक्ल जी आये जाे कि उस मिडीया समुह के स्थानीय वरिष्ठ पत्रकार थे… और इस कार्यक्रम की पूरी रूपरेखा इन्हाेने ही तय की थी…. राधिका और नीरज काे एक होटल मे ठहरना था.. लेकिन उन्हाेने प्रकाश जी के यहा रुकने का निश्चय किया…. फिर तय समय पर वे आश्रम पर पहुंचे.
आप पढ़ रहे हैं  aghori sadhu ka rahasya
आश्रम पर इनकी आगवानी करने आये साधु ने इन्हे फिर से चेतावनी दी काेई विडियो या फाेटाे शूट नही हाेगा… और अगर उन्हें किसी चीज की आवश्यकता हाे ताे इस घंटे काे बजा दें….. राधिका और नीरज काे वहा 3 दिन रुकना था.
अब राधिका ने वहा माैजूद साधुओं का इंटरव्यू लेना शुरू किया और वहा हाेने वाले क्रियाकलापाे को नाेट करने लगी.. और नीरज चुपके से इन सब का विडियाे बनाने लगा….
उनके क्रियाकलाप बहुत ही कठिन डरावने और अविश्वसनीय थे… काेई शव पर बैठकर भाेजन कर रहा है ताे काेई शव का ही भाेजन कर रहा है, काेई मानव अंग की हड्डियों से कार्य कर रहा है,भयावह आवाजें आ रही हैं, काेई आत्मा से बात कर रहा है… यह देख नीरज और राधिका की हालत खराब हाे गयी… किसी तरह वाे लाेग इसकाे कवर किये.
अब उनके जाने का समय आ गया था… उन्हे लेने शुक्ला जी आये थे, उन लाेगाें ने सबसे विदा ली… और जाने लगे… तभी उनके मुख्य साधु ने कहा.. बेटा आप लाेगाें का व्यवहार बहुत अच्छा था और शुक्ला जी यहा आते रहते हैं… हमने आपको जिन कार्याें की अनुमति दी थी… बस वही पूरी हुई हैं… हमसे कुछ छिप नही सकता.. ..जाआे खुश रहाे.

उनकी यह बाते कई सवाल कर रही थी… नीरज ने राधिका से पूछा… उनके कहने का तात्पर्य क्या था… कही उन्हें हमारे विडियाे शूट के बारे में पता ताे नही चल गया ना…

aghori sadhu ka rahasya

Aghori image

विडियो शूट… कैसा विडियो शूट… कही आप लाेग स्टिंग ताे नही कर रहे थे….. शुक्ला जी ने हड़बड़ाहट से पूछा
सारी… लेकिन यह हमे हेडआफिस से कहा गया था… राधिका ने अपना पक्ष रखा
अरे मैडम… ऐसा हाे ही नही सकता… काेई वहा से विडियो नही ला सकता… इसकी अनुमति नही है —शुक्ला जी ने कहा
लेकिन हम ताे लेकर आये… नीरज खुश हाेकर बाेला
दिखाइये जरा मुझे भी… शुक्ला जी ने कहा..
ओके.. अवश्य.. अभी दिखाता हूं… नीरज ने कैमरा निकला.. और दिखाना शुरू किया… अरे यह क्या.. इसमे से सारे फाेटाे और विडियो ही गायब हैं… अब राधिका और नीरज के आश्चर्य का ठिकाना नही रहा…
लेकिन ऐसा कैसे हो सकता है…मैने खुद विडियो शूट किया था… कही किसी ने क्लिप बदल ताे नही दी… ऩीरज ने कहा
तभी उसमें स्वत: एक क्लिप चलने लगी…
“मुर्ख बालक, मना किया था न विडियो बनाने से, हम चाहते ताे तुम्हें वही खत्म कर सकते थे… लेकिन शुक्ला के वजह से छाेड़ दिया… बिना हमारी मर्जी के यहा एक पत्ता भी नही हिलता, तुमने इतना घाेर दुस्साहस किया, जाओ अपने चीफ एडिटर काे यह दिखा देना”

अब वे लाेग डरने लगे… आप aghori sadhu ka rahasya पढ़ रहे हैं. तब शुक्ला जी ने मन ही मन क्षमा मांगी… और ये दाेनाे लाेग अपने हेडआफिस आये… और ऐसा स्टिंग फिर कभी ना करने की कसम खायी… लेकिन यह बात उन्हे हमेशा परेशान करती रही कि यह aghori sadhu ka rahasya क्या था. दोस्तों aghori sadhu ka rahasya इस तरह की अन्य कहानियों को पढ़ने के लिये ब्लॉग को सबस्क्राइब अवश्य करें.दोस्तों अन्य horror stories के लिए इस बेलीगारद जहाँ है भूतों का डेरा Horror Story लिंक पर क्लिक करें.

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment