Horror Story Interesting Facts

मौत के बाद की जिंदगी garun puran

मौत के बाद की जिंदगी garun puran
मौत के बाद की जिंदगी garun puran

मौत के बाद की जिंदगी garun puran इंसान की जिंदगी का सबसे कड़वा सच उसकी मृत्यु है. मृत्यु अटल है, इसे कोई ल नहीं सकता है. जो इस धरा पर आया है उसे एक ना एक दिन जाना ही है. लेकिन जो सबसे बड़ा सवाल यह है कि Maut ke baad kya hota hai “? maut ke baad ki zindagi क्या होती है?

विज्ञान इतना आगे चले जाने के बाद भी आज लग Maut ke baad का रहस्य सुलझा नहीं पाया है. आखिर व्यक्ति की मृत्यु क्यों होती है और मौत के बाद आत्मा कहा जाती है. यह सवाल आज भी एक रहस्य है.

Maut ke baad Atma ka kya hota hai इसको लेकर अलग – अलग धारणाएं हैं. कहा जाता है कि maut ke baad आत्मा को उसके कर्मों के हिसाब से स्वर्ग या नरक में भेज दिया जाता है तो कई जगह कहा जाता है कि कर्म के आधार पर उसे अगले जन्म में भेज दिया जाता है. परन्तु hindu dharm के garun puran में mrityu ke baad atma ka kya hota hai इसके बारे में विस्तार से बताया गया है.

मौत के बाद की जिंदगी garun puran
मौत के बाद की जिंदगी garun puran

हिन्दू धर्म में कई पुराण हैं उनमें से गरुण पुराण के अनुसार जब किसी की मृत्यु होती है तो उसकी आत्मा को ले जानी किए लिए दो यमदूत आते हैं. उनका स्वरुप bhoot wali picture की तरह बेहद डरावना होता है, जिसके वजह से मनुष्य आवाज थम जाती है. लेकिन अगर मनुष्य के कर्म अच्छे हैं तो आत्मा को लेने आयी हुए दूतों का चेहरा भयावह नहीं होता है.

ऐसा माना जाता है कि आत्मा शरीर त्यागने के बाद अंगूठे के आकार की हो जाती है. इस आत्मा को यमदूत यमराज के पास जाते हैं. वहाँ इसे २४ घंटे तक रखा जाता है. उस समय उसके कर्मों का लेखा जोखा दिखाया जाता है और फिर उसे उसके शरीर का नाश दिखाया जाता है. वह अपने शरीर को जलता हुआ देखती है.उसके बाद उसे कर्मों के हिसाब से यातनाएं दी जातीं हैं.

Narad Puran के अनुसार मौत के बाद की जिंदगी garun puran

इन सबके बीच नारद पुराण में बताया गया है किन तरह के पुण्यकर्मों के कारण आपको जन्म ही नहीं लेना पड़ेगा. आप इस जम-मृत्यु के बंधन से सदा-सदा के लिए मुक्त हो जायेंगे. आप यह जान लेंगे kya bhagwan hai ya nahi. आइये narad puran के इस रहस्य को विस्तार जानते हैं. नारद पुराण में इस बात का उल्लेख है कि जब कोई व्यक्ति किसी सुगन्धित खुशबु वाले फूल से भगवान विष्णु की मनपूर्वक पूजा करता है तो उसकी सारे पाप धुल जाते हैं और वह पिछले पापों से मुक्त हो जाएगा और वह जो कुछ चाहेगा, वह उसे प्राप्त होगा. लेकिन एक दिन ऐसा आएगा जब उसे दान करना होगा और अगर वह दान नहीं कर पायेगा तो उसे दर-दर भटकना पड़ेगा.

इसके अलावा जो व्यक्ति सुबह नित्यकर्म से निवृत्त होकर भगवान विष्णु को तुलसी के पत्ते अर्पित करेगा और गाय की पूजा करेगा उसे विष्णुलोक में स्थान प्राप्त होगा. मित्रो hindi best story की यह जानकारी मौत के बाद की जिंदगी garun puran आपको कैसी लगी, कमेन्ट में बताएं और भी hindi kahani के लिए इस लिंक https://www.hindibeststory.com/hindi-bhakti-gee/ पर क्लिक करें.

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment