Best Short Story in Hindi With Moral For Class 1/ बच्चों की कहानियां हिंदी में
Best Short Story in Hindi With Moral

Best Short Story in Hindi With Moral For Class 1/ बच्चों की कहानियां हिंदी में

Best Short Story in Hindi With Moral For Class 2

 

 

 

2- Best Short Story in Hindi -आज परीलोक में काफी हलचल थी।  सबके चहरे पर सिकन साफ़ देखी  जा रही थी और इसीलिए रानी परी ने एक मीटिंग बुलाई थी।  सभी लोग तय समय पर मीटिंग में पहुँच गए।
वहाँ पर रानी परी ने कहा, ” चुड़ैल लोक की चुड़ैल हमारी पुण्य मणि को हमसे लेना चाहती है और वह इसके लिए कुछ भी करने को तैयार है।  अगर यह मणि उसके हाथ लाग गयी तो अनर्थ हो जाएगा। हमारी शक्तियां क्षीण होने लगेंगी और अंत में हम शक्ति विहीन हो जाएंगी।  “
” फिर तो हमें उस चुड़ैल को रोकना होगा ” लालपरी  ने कहा।
सभी से इससे सहमति जताई।  इसके बाद मणि की सुरक्षा और भी बढ़ा दी गयी और इसके साथ ही पुरे परीलोक की सुरक्षा बढ़ा दी गयी और गुप्तचरों को सावधान रहने को कहा गया और इसकी जिममेदारी जलपरी को दी गयी।
कुछ दिन बीते।  अचानक से एक रात पुरे परीलोक में खतरे का अलार्म बज गया।  चुड़ैल ने अपने सैनिकों के साथ परीलोक को घेर लिया।  इसकी सूचना मिलते ही रानी परी भी लालपरी, जलपरी, गुलाबीपरी तथा अन्य परियों के साथ आ पहुंची।
तभी चुड़ैल के सैनिकों ने पारी लोक पर आक्रमण कर दिया और अग्निवर्षा करने लगे।  लेकिन जलपरी ने उनकी अग्निवर्षा को पलभर में ही नष्ट कर दिया।
उसके बाद चुड़ैल के सैनिक पत्थर बरसाने लगते है जिसे हवापरी दूर उड़ा देती है।  अपने हथियारों को नष्ट होता देखकर चुड़ैल अपने सैनिकों को हमला करने का आदेश देती है और जवाब में परीलोक के सैनिक भी हमला करते हैं।
बहुत भीषण युद्ध होता है और चुड़ैल हारने लगती है।  खुद को हारता हुआ देखकर वह  अपनी माया का प्रयोग शुरू करती है।  वह कभी गायब हो जाती तो कभी कई रूपों में आती तो ककभी परछाई बनकर आक्रमण करती।
उसके छद्म युद्ध से परिसेना परेशान होने लगी।  तब रानीपारी ने मायावीपरी का आह्वान किया।  मायावीपरी ने आते ही अपनी माया से चुड़ैल के सारे मायावी शक्तियों को नष्ट कर दिया और अपनी एक तेज किरण से उसका वध कर दिया।  इस तरह से परियों ने पुण्य मणि की रक्षा की।
3- Best Short Story in Hindi With Moral For Class 3  एक बार की बात है एक बहुत बड़े दार्शनिक  अपने अनुयायियों के साथ एक पहाड़ी से गुजर रहे थे।  थोड़ी देर चलने के बाद उन्हें रोने  की एक आवाज सुनाई दी  और वे कहीं रुक गए।
उसके बाद वे  अपने शिष्यों के साथ उस आवाज की तरफ बढ़ने लगे।  कुछ दूर जाकर उन्होंने देखा कि एक स्त्री रो रही थी।   उन्होंने उस स्त्री  से रोने का कारण पूछा तो उसने कहा, ”  इसी स्थान पर एक चीते ने उसके पुत्र को मार डाला और यह कह कर वह और  बी जोर से रोने लगी। “
उसके क्रंदन से सबका मन द्रवित होने लगा।  मन को शांत करते हुए उस दार्शनिक ने फिर से पूछा, ” तुम यहां पर अकेली हो ?  बाकी तुम्हारा परिवार कहां पर हैं? “
इस पर उस स्त्री ने जवाब दिया, ” मेरा परिवार इसी पहाड़ी पर रहता था।  अभी कुछ दिन पहले ही चीते ने मेरे पति और ससुर को मार दिया था और  मेरा पुत्र और मैं यहां रहते थे। आज इसने  मेरे पुत्र को भी  मार दिया।  “
इस पर दार्शनिक ने कहा, ” आप लोगों ने यह पहाड़ी क्यों नहीं छोड़ी ? जबकि आपको पता है कि यह पहाड़ी खतरनाक है।  चलो अब इस पहाड़ी को छोड़ दो।  “
इस पर उस स्त्री ने कहा, ”  यह जगह तो कम से कम उस अत्याचारी शासक से तो ठीक है।  यहां हम एक दिन मरेंगे वहाँ तो हमें रोज – रोज मरना पडेगा।  “
महिला का जवाब सुनकर दार्शनिक अवाक रह गए।  कुछ देर बाद उन्होंने कहा, ”  आज आपने हमें  एक महत्वपूर्ण सत्य से अवगत कराया।  ऐसे राजा के खिलाफ राज्य की जनता को एक होकर हटा देना चाहिए।  रोज – रोज के दुखों से छुटकारा हो जाएगा।  “

मित्रों यह  Best Short Story in Hindi With Moral आपको कैसी लगी जरुर बताएं और  Best Short Story in Hindi With Moral For Class 1 की तरह की और भी कहानी के लिए इस ब्लॉग को लाइक , शेयर और सबस्क्राइब जरुर करें और दूसरी पोस्ट के लिए नीचे की लिंक पर क्लिक करें.

 

१- Pari ki Kahani in Hindi / परी की कहानी हिंदी में . बच्चों की कहानियां हिंदी में

2- Nanhi Pari Ki Kahani Hindi

3- Hindi Ki Kahani

 

Leave a Reply

Close Menu