आवश्यक जानकारी

बिजली का करंट लगने पर रोगी को कैसे बचायें

बिजली का करंट लगने पर रोगी को कैसे बचायें

बिजली का करंट लगने पर रोगी को कैसे बचायें इलेक्ट्रिक चीजों जैसे कूलर , एसी, टीवी और इसके अलावां अन्य तमाम बिजली के उपकरणों का बहुत अधिक इस्तेमाल किया जाता है. आज के समय में बिजली के बिना जीवन जीना ही असंभव है. हर चीज बिजली के ऊपर दीपेंड्स है. ऐसे में कई बार करंट बिजली का गंभीर झटका लग जाता है. कई बार करंट का प्रभाव बहुत हल्का होता है लेकिन कई बार इसका असर बहुत ही अधिक होता है. जिससे व्यक्ति की मृत्यु भी हो जाती है या फिर वह कई बार गंभीर रूप से घायल हो जाता है. ऐसे में बिजली उपकरणों का इस्तेमाल करते समय सावधानियां जरुर बरतनी चाहिए. उन्हें समय -समय पर बदलना चाहिए और अगर वह उपकरण अगर थोड़े से भी खराब हों तो उन्हें तुरंत ही बदल देना चाहिए.

ऐसी गलती कभी ना करें

कई बार बिजली के उपकरणों से इलेक्ट्रिक शाक निकलने की वजह से व्यक्ति उसके साथ पूरी तरह से चिपक जाता है. ऐसे में उस व्यक्ति को छूकर बचाने की गलती कभी नहीं करें. इसके लिए तुरंत ही बिजली काट दें या फिर किसी लकड़ी के डंडे की मदद से उस व्यक्ति को अलग करें. जिससे बचाने वाले को करंट नहीं लगेगा.

बिजली का करंट लगने पर रोगी को कैसे बचायें
बिजली का करंट लगने पर रोगी को कैसे बचायें

करंट लगने की स्थिति में कई बार व्य्यक्ति बेसुध हो जाता है. इसके लिए उसे सबसे पहले सही पोजीशन में लिटायें. उसका एक हाथ सर के नीचे और दूसरा आगे की ओर करें. इसी तरह एक पैर सीधा और दूसरा मुडा हुआ रहने दें. कुछ देर ऐसे ही रहने देने से रोगी जल्द ही होश में आ जाता है.अगर बिजली के झटके से अगर हाथ जल जाए या फिर कोई अंग जल जाए तो उसे तुरंत ही पानी से धो देना चाहिए और अगर खून निकलना बंद ना हो तो उसे कपडे सी बाँध दें.

उसके बाद तुरंत ही पीड़ित को किसी नजदीकी हास्पिटल में दिखाना चाहिए और यह सबसे महत्वपूर्ण है. जिससे उसका जल्द ही उचित उपचार हो सके. मित्रों मेरी यह पोस्ट बिजली का करंट लगने पर रोगी को कैसे बचायें आपको कैसी लगी अवश्य ही बताएं और दूसरी जानकारी के इस लिंक https://www.hindibeststory.com/swastik-ka-rahasya-bhakti-kahani/ पर क्लिक करें.

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment