Category - Hindi Kahani

Hindi Kahani

हमदर्दों का दर्द

हमदर्दों का दर्द एक्सीडेंट के पश्चात जब मेरी आँख खुली, तो मैंने अपने आपको एक बिस्तर पर पाया. इर्द...

Hindi Kahani

मित्रता एक सपर्पण

मित्रता एक सपर्पण वैसे तो मित्रता पर आज तक बहुत कुछ लिखा गया है, लेकिन आज के कलयुग के समय में इसे...

Hindi Kahani

तिरस्कार

तिरस्कार वंश बेल तो लड़को से ही बढती है…..सदियों से निरंतर चलती आ रही इस सोच से बूढी मालती भी...

Hindi Kahani Moral Story

बकरी की चालाकी

बकरी की चालाकी एक बार की बात है. एक किसान था. उसने ढेर सारी बकरियां पाल राखी थी. यही उसका व्यापार...