Horror Story

Mussoorie ke Hotel Saway ka Rahasy Horror Story

Mussoorie ke Hotel Saway ka Rahasy Horror Story आज हम आपको पहाड़ो की मल्लिका, पहाड़ों की रानी मसूरी की एक रोमांचक और भयानक घटना से अवगत करायेंगे.पहाड़ों की रानी मसूरी में जैसे ही दिन खत्म होने लगता है और रात का अन्धेरा दूर-दूर तक फैली पहाड़ियों को अपने आगोश में लेता है तो वहीं शुरू होता है बुरी शक्तियों का तांडव.

Mussoorie ke Hotel Saway ka Rahasy Horror Story

Mussoorie ke Hotel Saway ka Rahasy Horror Story

Mussoorie ke Hotel Saway ka Rahasy Horror Story

आज हम बात करने जा रहे हैं मसूरी के होटल सवाय की. यह बहुत समय पहले मसूरी के प्रसिद्ध होटलों में से एक था. सवा सौ साल पुरानी यह इमारत आज मसूरी के इतिहास का हिस्सा है. कहा जाता है कि घनी काली रात मीन यह होटल ठीक वैसे ही गुलजार हो जाता है जैसे कब्रिस्तान नयी कब्र खुदने के बाद या फिर कोई श्मशान नेई चिता के सुलगने के बाद. मसूरी के मध्य में स्थित इस होटल में रात के अँधेरे में एक साया बेचैन हो जाता है. वह कभी गलियारों में चहलकदमी करता है तो कभी खिडकियों से झांकता है.

१२१ कमरों के इस आलिशान होटल के वीरान और सुनसान पड़े कमरों में अब सिर्फ उसका ही राज चलता है. लोगों का कहना है कि यह सिर्फ कही-सुनी बातें नहीं है…बल्कि हकीकत से वास्ता है. तो चलिए Mussoorie ke Hotel Saway ka Rahasy Horror Story इसके रहस्य को जानते हैं.

यह सवाय होटल पहले अर्थात १९वीं शताब्दी में मसूरी  स्कूल था . जिसका नाम बदलकर बाद में मेडाक स्कूल रख दिया गया. इस स्कूल को इग्लैंड से आये लिंकन ने १८९० में खरीदा और लगभग १२ वर्ष की मेहनत के बाद वर्ष १९०२ में इसे इंग्लैण्ड के तब की मशहूर होटल सवाय के तर्ज पर बनाने में कामयाबी  हासिल की. यह १२१ कमरों का आलीशान और बेहद ही ख़ूबसूरत होटल था. उस समय इस होटल की हर शाम गुलजार हुआ कराती थी.

लेकिन अचानक घटी एक घटना ने इस होटल को वीरान बना दिया. दरअसल उस होटल में एक ब्रिटिश महिला का क़त्ल हो गया. इस घटना से हर कोई अवाक रह गया. इस घटना की गूंज हर जगह सुनाई देने लगी. सभी के बीच खलबली मची हुई थी. ऐसा नहीं था कि वह महिला कोई विआईपी थी. बल्कि इसका कारण कुछ और ही था.

दरअसल लेडी गारनेट आर्मे की लाश मौत के कई दिनों बाद होटल के कमरे से मिली थी. इसके बावजूद वह पूरी तरह ताजा मालुम पड़ रही थी. लेकिन यह मामला पुलिस की डायरी में दब गय्या. उनकी डेड बॉडी का क्या हुआ इसके बारे में भी किसी को कोई खबर नहीं हुई. बात आई-गयी हो जाती, लेकिन इसी बीच दो और क़त्ल हो गए . एक उस डॉक्टर का जिसने लेडी गारनेट का पोस्टमार्टम किया था और एक उनके पेंटर का.  इन दो मौतों ने लोगों के बीच खौफ भर दिया.  इसके बाद लोगों में डर हो गया, लेकिन सवाय की खूबसूरती लोगों को होटल की तरफ खीच ही लाती थी.

कुछ लोगों का कहना था कि इस होटल का मालिक लिंकन एक सीरियल किलर था . यहाँ जो भी बातें होती..गलत क्काम होते वह इस होटल की दीवारों में दफन हो जाते और जो भी इसे बाहर ले जाने की कोशिश करता उसे सदा के लिए मौत के हवाले कर दिया जाता था. इतिहासकारों की माने तो द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान यह होटल ब्रिटिश और अमेरिका की सेनाओं का ठिकाना रहा. इस होटल में क़त्ल का सिलसिला ऐसे ही जारी रहा, लेकिन बात तब बढ़ी जब इस होटल पर आत्माओं ने कब्ज़ा ज़माना शुरू किया. इसके बाद जिस किसी ने भी इस होटल को खरीदा उसे सिर्फ एक ही चीज मिली बर्बादी.  उसके बाद से इस होटल को लेडी आर्मे ने अपना ठिकाना बना लिया है. आज यह होटल पूरी तरह से बंद है, लेकिन लोगों के अनुसार आज भी इस होटल में लेडी आर्मे की आत्मा भटकती है. तो दोस्तों यह horror story  Mussoorie ke Hotel Saway ka Rahasy Horror Story    आपको कैसी लगी अवश्य बताएं और अन्य short horror stories के लिए इस लिंक कौन बनता है bhootपर क्लिक करें.

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment