You cannot copy content of this page
Hindi Kahani

kahani in hindi

कौवा और उल्लू की कहानी
कौवा और उल्लू की कहानी
Written by Hindibeststory

kahani in hindi बहुत पहले की बात है. मिस्र देश का एक राजा था. उसने एक देवता की तपस्या की और देवता उस पर प्रसन्न हो गए और उसे एक चमत्कारी तलवार दी और बोले जाओ दुनिया फतह करो. इस पर राजा बोला प्रभु मेरे पास तो सब कुछ है फिर मैं दुनिया फतह करने क्यों जाऊं.

इस देवता कुछ देर रुके और सोचकर बोले यह लो पारसमणि , इससे तुम जितना चाहो उतना धन प्राप्त करो. इस पर राजा ने भगवान् से यह कहते हुए पारसमणि लेने से इनकार कर दिया कि मुझे पैसों की कोई आवश्यकता नहीं है. इस पर देवता ने उसे अप्सरा देते हुये बोले ” ये लो, मैं तुम्हे साथ रहने के लिए एक खुबसूरत अप्सरा देता हूँ . ” इस पर राजा बोला मुझे इसकी भी आवश्यकता नहीं है है. इससे कुछ और अच्छा हो तो कृपया बताएं.

देवता बड़े सोच में पड़ गए और कहानी लगे सभी मानव तो यही सब पाने के लिए संघर्ष करते हैं और मैं तुम्हे सहर्ष दे रहा हूँ फिर भी तुम मना कर रहे हो . अब तुम ही बताओ कि मैं तुम्हे क्या दूँ.

राजा ने कहा प्रभु! आप ही सोचिये मैं अगर तलवार को धारण करता हूँ तो उसकी धार एक ना एक दिन चली जायेगी और मुझे अप्सरा और धन की भी कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह तो मोह है और मुझे अब मोह की चाह नहीं है.

इस पर देवता ने कहा आखिर क्या चाहिए फिर तुम्हे ? तबी राजा बोला एक पेड़ का पौधा .

पेड़ का पौधा देवता ने आश्चर्य से कहा

राजा ने कहा हां , प्रकृति कके सुन्दरता को निहारने तो आप देव भी इस धरा पर खींचे आ जाते हैं. इस धरती का प्रमुख आकर्षण ये पौधे ही हैं. अतः मुझे एक ऐसा पौधा चाहिए जो मनुष्य के काम आ सके . इस पर देवता ने उसे पौधा दे दिया और आशीष देकर चले गए. मित्रों आपको यह kids story kahani in hindi कैसी लगी जरुर बताएं और इस तरह की और भी kids story के लिए ब्लॉग को लाइक , शेयर और सबस्क्राइब करें और दुसरे के लिए इस लिंक story for kids in hindi / शेर और चूहा पर क्लिक करें.

About the author

Hindibeststory

4 Comments

Leave a Comment