Bhakti Story

maihar devi

maihar devi
Written by Abhishek Pandey

maihar devi मध्यप्रदेश के सतना जिला के मैहर त्रिकुट पर्वत पर स्थित है. यहाँ आने वाला भक्त कभी खाली हाथ नहीं जाता. जो भी व्यक्ति यहाँ जो कुछ माता से मांगता है, माता उसकी मुराद अवश्य पूरी करती है. ५२ शक्तिपीठों में maihar का शारदा मंदिर ही ऐसा मंदिर है जहां अमरत्व का वरदान मिलता है. आपको को बता दे कि मैहर का अर्थ होता है मां का हार. maihar से 5 किलोमीटर दूर त्रिकूट पर्वत पर माता शारदा देवी का वास है. पर्वत की चोटी के मध्य में ही शारदा माता का मंदिर है. पूरे भारत में सतना का maihar mata mandir माता शारदा का अकेला मंदिर है. इसी पर्वत की चोटी पर माता के साथ ही श्री काल भैरवी, हनुमान जी, देवी काली, दुर्गा, श्री गौरी शंकर, शेष नाग, फूलमति माता, ब्रह्म देव और जलापा देवी के भी मंदिर हैं.

 

कैसे पहुंचे maihar devi मंदिर

 

भारत की राजधानी दिल्ली से maihar तक की सड़क से दूरी लगभग १००० किलोमीटर है. ट्रेन से पहुंचने के लिए महाकौशल व रीवा एक्सप्रेस उपयुक्त हैं . इसके साथ ही वाराणसी मुंबई महानगरी से भी आप मैहर जा सकते हैं और दिल्ली से चलने वाली महाकौशल एक्सप्रेस सीधे मैहर ही पहुंचती है. स्टेशन से उतरने के बाद किसी धर्मशाला या होटल में थोड़ा विश्राम करने के बाद चढ़ाई आरंभ की जा सकती है. रीवा एक्सप्रेस से यात्रा करने वाले भक्तजनों को मजगांवां पर उतरना चाहिए. वहां से maihar लगभग 15 किलोमीटर दूर है.

 

त्रिकूट पर्वत पर maihar devi का मंदिर भू-तल से छह सौ फीट की ऊंचाई पर स्थित है. temple तक जाने वाले मार्ग में तीन सौ फीट तक की यात्रा गाड़ी से भी की जा सकती है. maihar devi तक पहुंचने की यात्रा को चार खंडों में विभक्त किया जा सकता है. प्रथम खंड की यात्रा में चार सौ अस्सी सीढ़ियों को पार करना होता है. मंदिर के सबसे निकट त्रिकूट पर्वत से सटा मंगल निकेतन बिड़ला धर्मशाला है. इसके पास से ही येलजी नदी बहती है. द्वितीय खंड 228 सीढ़ियों का है. इस यात्रा खंड में पानी व अन्य पेय पदार्थों का प्रबंध है. यहां पर आदिश्वरी माई का प्राचीन मंदिर है. यात्रा के तृतीय खंड में एक सौ सैंतालीस सीढ़ियां हैं. चौथे और अंतिम खंड में 196 सीढ़ियां पार करनी होती हैं. इसके बाद आप maihar devi तक पहुँच जायेंगे.

 

मित्रों मेरी यह पोस्ट maihar devi आपको कैसी लगी अवश्य बताएं और भी अन्य कहानिया के लिए इस ब्लॉग को सबस्क्राइब जरुर कर लें. इस ब्लॉग पर रोज नयी कहानी पोस्ट होती हैं. दूसरी bhakti story के लिए इस लिंक maihar mata mandir पर क्लिक करें.

About the author

Abhishek Pandey

Leave a Comment