You cannot copy content of this page
Biography

rahul gandhi biography . राहुल गांधी जीवन परिचय

rahul gandhi biography . राहुल गांधी जीवन परिचय
rahul gandhi biography . राहुल गांधी जीवन परिचय
Written by Hindibeststory

rahul gandhi biography . राहुल गांधी जीवन परिचय राहुल गांधी इस समय कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और आज इस पोस्ट के माध्यम से हम राहुल गांधी जी के बारे में बताने जा रहे हैं.

rahul gandhi father name – राजीव गांधी

rahul gandhi mother name – सोनिया गांधी

rahul gandhi sister – प्रियंका गांधी

rahul gandhi wife – अभी नहीं

rahul gandhi age – ४९ साल

rahul gandhi date of birth – १९ जून १९७०

rahul gandhi birthday – १९ जून

rahul gandhi education – सेंट कोलंबस स्कूल दिल्ली , द दून स्कूल देहरादून , सेंट स्टीफन कालेज दिल्ली , हावर्ड यूनिवर्सिटी , ट्रिनिटी कालेज , कैम्ब्रिज

rahul gandhi political party – भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस

rahul gandhi का धर्म – हिन्दू ब्राह्मण

राहुल गांधी का जन्म १९ जून १९७० को हुआ. राहुल गाँधी के पिता का नाम राजीव गांधी और माता का नाम सोनिया गांधी है. इनकी बहन प्रियंका गांधी हैं , जिनका विवाह राबर्ट वाड्रा से हुआ है. वरुण गांधी राहुल गांधी के चचेरे भाई हैं. वे इस समय नेहरू – गांधी परिवार के चौथे पीढ़ी के नेता है और इस समय राष्ट्रीय पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष हैं. इसके पहले वे भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस के उपाध्यक्ष , भारतीय राष्ट्रिय विद्यार्थी संघ और राष्ट्रिय युवा कांग्रेस के अध्यक्ष के पद पर भी रह चुके हैं. ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी के महामंत्री भी रह चुके हैं और साथ ही राहुल गांधी संसद के सदस्य भी है और अमेठी चुनाव क्षेत्र का प्रतिनिधित्व भी कर रहे है.

राहुल गांधी की शुरूआती शिक्षा सेंट कोलंबस स्कूल दिल्ली और द दून स्कूल , देहरादून से हुई. परन्तु इसी समय कुछ हादसे हुए . ३१ अक्टूबर १९८४ को इंदिरा गांधी की ह्त्या कर दी गयी और इस ह्त्या के बाद दंगे भड़क गए. इंदिरा गांधी की ह्त्या के बाद राजीव गांधी को भारत का प्रधानमंत्री बनाया गया. जिसका सिख समुदाय ने कडा विरोध किया . जिसके कारण राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को अपनी स्कूल की शिक्षा छोड़नी पड़ी और उन्हें घर पर ही शिक्षा दी जाने लगी.

कुछ समय बाद १९८९ में राहुल गांधी ने दिल्ली के सेंट स्टीफन कालेज में दाखिला लिया और उसके बाद वे हावर्ड यूनिवर्सिटी गए. इसी दौरान राजीव गांधी की हत्या ( १९९१ ) में हो गयी. दुबारा इस तरह के हादसे के बाद सुरक्षा की दृष्टि से राहुल गांधी को फ्लोरिडा के रोल्लिन्स कॉलेज में भेजा गया जहा उन्होंने १९९४ में अपना BA पूरा किया. उस समय ऐसा माना जाता की थी केवल उनकी सुरक्षा एजेंसी और विश्वविद्यालय समिति को ही उनकी सही पहचान मालूम थी. १९९५ में राहुल गांधी ने अपना M.Phil पुरा किया और इसी के साथ उन्होंने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से विकास संबंधी शिक्षा प्राप्त की.

अपने ग्रेजुएशन के बाद, 3 साल तक राहुल गांधी ने लंदन के मॉनिटर ग्रुप के लिए काम किया, जो मैनेजमेंट गुरु माइकल पोर्टर की ही सलाहकार संस्था थी. २००२ के अंत में भारत वापिस आने के बाद वे टेक्नोलॉजी आउटसोर्सिंग फर्म और बस्कोपस सर्विसेस प्राइवेट लिमिटेड, मुम्बई के अध्यक्ष बने और बाद में कुछ सालो बाद से राजनीति में सक्रीय रूप से कार्यरत है. २००३ में यह अफवाह जोरों पर थी कि राहुल गांधी सक्रीय राजनीति में आयेंगे , लेकिन इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई . वह सार्वजनिक समारोहों और कांग्रेस की बैठकों में बस अपनी माँ के साथ दिखाई दिए.

जनवरी २००४ में राजनीति उनके और उनकी बहन के संभावित प्रवेश के बारे में अटकलें बढ़ीं जब उन्होंने अपने पिता के पूर्व निर्वाचन क्षेत्र अमेठी का दौरा किया, जहाँ से उस समय उनकी माँ सांसद थीं. मई २००४ का चुनाव लड़ने की घोषणा के साथ उन्होंने भारतीय राजनीति में प्रवेश की घोषणा की. राहुल गांधी अपने पिता के पूर्व निर्वाचन क्षेत्र उत्तर प्रदेश के अमेठी से लोकसभा चुनाव के लिए खड़े हुए. वह चुनाव विशाल बहुमत से जीते, वोटों में १००००० के अंतर के साथ इन्होंने अपने चुनाव क्षेत्र को परिवार का गढ़ बनाए रखा, जब कांग्रेस ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को अप्रत्याशित रूप से हराया. इसमें प्रियंका गांधी ने मुख्य भूमिका निभाई थी , क्योंकि प्रचार की कमान उन्होने संभाली थी.

उसके बाद राहुल गांधी और उनकी बहन ने २००६ में रायबरेली में पुनः सत्तारूढ़ होने के लिए उनकी माँ सोनिया गाँधी का चुनाव अभियान हाथ में लिया, जो आसानी से ४ ०० ००० मतों से अधिक अंतर के साथ जीती थीं. २००७ में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए एक उच्च स्तरीय कांग्रेस अभियान में उन्होंने प्रमुख भूमिका अदा की . हालाँकि कांग्रेस ने मतदान के साथ केवल 22 सीटें ही जीतीं। इस चुनाव में बहुजन समाज पार्टी को बहुमत मिला. इसी दौरान २००६ के आखिर में न्यूज़वीक ने इल्जाम लगाया की राहुल गांधी हार्वर्ड और कैंब्रिज में अपनी डिग्री पूरी नहीं की थी या मॉनिटर ग्रुप में काम नहीं किया था, तब राहुल गांधी के कानूनी मामलों की टीम ने जवाब में एक कानूनी नोटिस भेजा, जिसके बाद वे जल्दी से मुकर गए .

राहुल गांधी को २४ सितंबर २००७ में पार्टी-संगठन के एक फेर-बदल में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति का महासचिव नियुक्त किया गया. उसी फेर-बदल में उन्हें युवा कांग्रेस और भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ का कार्यभार भी दिया गया था. २००९ के लोकसभा चुनावों में, उन्होंने उनके निकटतम प्रतिद्वंद्वी को ३ ३३ ००० वोटों के अन्तर से पराजित करके अपना अमेठी निर्वाचक क्षेत्र बनाए रखा. इस चुनाव में कांगेस को उत्तर प्रदेश में २१ सीटें मिलीं.

२०११ में उत्तर प्रदेश के परसौल गांव में एक किसान आन्दोलन में राहुल गांधी को गिरफ्तार किया गया. २०१२ में पुनः उत्तर प्रदेश के चुनावों में इन्होने अपने आप को पूरी तरह झौक दिया और लगभग २०० रैलियां की . इस बार पार्टी ने यहां २८ सीटे जीती, फिर भी पार्टी यहां चौथे स्थान पर रहीं.
इसके बाद पाकिस्तान के साथ रिश्तों को सुधारने के लिए इन्होने अपनी बहन के साथ पाकिस्तान का दौरा किया और वहाँ इंडिया और पाकिस्तान के मध्य आयोजित पहली क्रिकेट सीरीज देखी.

१९ जनवरी २०१३ में जयपुर में आयोजित पार्टी सदस्यों की मीटिंग में इन्हे पार्टी उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया. अब आधिकारिक तौर पर ये ऐसे द्वितीय व्यक्ति थे, जिसके हाथ में पार्टी की कमान थी, और प्रथम स्थान पर इनकी माता जी सोनिया जी थी . साल २०१३ में राहुल का पार्टी में पावर तब देखा गया, जब इन्होने मनमोहन सरकार की खुली आलोचना की, जबकि प्रधानमंत्री द्वारा सुप्रीम कोर्ट के फैसले “दोषी आदमी चुनाव नहीं लड़ सकता” को अध्यादेश जारी कर रद्द किया गया था. साल २०१४ चुनावों मे राहुल अमेठी से स्वयं की सीट बचाने में तो कामयाब रहें, परंतु यह साल उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए बुरा साबित हुआ. और इस वर्ष पार्टी को अपनी सबसे बड़ी हार का सामना करना पड़ा. अमेठी में मात्र २३ दिन के कैम्पेन में ही स्मृति इरानी ने इन्हें कड़ी टक्कर दी.

इसमें बार कांग्रेस राज्य दर राज्य हारती गयी, लेकिन २०१९ के चुनाव के पहले मध्यप्रदेश , छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रस को जीत मिली और राहुल गांधी ने राफेल सौदे में भ्रष्टाचार को लेकर प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी पर हमला करते रहे. मित्रों आपको यह जानकारी rahul gandhi biography . राहुल गांधी जीवन परिचय कैसी लगी जरुर बताएं और rahul gandhi biography . राहुल गांधी जीवन परिचय की तरह की इस तरह को जानकारी के लिये इस ब्लॉग को लाइक , शेयर और सबस्क्राइब करें और दूसरी पोस्ट के लिए नीचे की लिंक पर क्लिक करें.

1-सन्यासी की सीख moral story

2-कितने अंधे akbar birbal story

3-bhakti ki kahani

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment