Uncategorized

raksha bandhan Kyon manaya jata hai?

raksha bandhan Kyon manaya jata hai?   आज हम आपको इस पोस्ट में    के  बारे में वस्त्र से बताएँगे और मुझे उम्मीद है कि    यह पोस्ट  raksha bandhan Kyon manaya jata hai?  आपको अवश्य पसंद आयेगा.

Rakshabandan Kyon manaya jata hain?

देवकी नंदन श्रीकृष्ण, जिन्हें योगेश्वर भी कहा जाता है. भगवान श्रीकृष्ण ने पपियों के भार से इस वसुंधरा को मुक्त करने के लिए मानव अवतार लिया. उन्होने अपनी योग माया से अनेकों लीलाएं की. एक बार की बात है, श्रीकृष्ण की उंगली में कुछ कार्य करते हुए चोट लग गयी और उसमें से रक्त बहने लगा, तभी द्रौपदी ने यह देख लिया, जो वहीं बैठी हुई थी. उन्होने तुरंत अपनी साड़ी का पल्लू फाड़कर श्रीकृष्ण की उंगली पर बांध दिया.
raksha bandhan image/ rakhi image
www.hindibeststory.com

raksha bandhan image / rakhi image

raksha bandhan Kyon manaya jata hai?

raksha bandhan image / rakhi image

raksha bandhan Kyon manaya jata hai?

raksha bandhan image / rakhi image

तब श्रीकृष ने द्रौपदी को वचन देते हुये कहा की “यह बंधन बांध तुमने मुझे बांध लिया. जब भी तुम मुझे पुकारोगी, मैं तुम्हें वहां खड़ा मिलूँगा. हर मुसीबत में तुम्हारा साथ दूंगा.”
जब पांडव जुए में द्रौपदी सहित पूरा राज्य हार गये, तब दुर्योधन का भाई दुःशासन अपने अपमान का बदला लेने के लिये भरी सभा में द्रौपदी का वस्त्र हरण करने लगा. द्रौपदी मदद की गुहार लगती रही, लेकिन सभी लोग सिर झुकाए मौन बैठे रहे. कहीं से सहायता नहीं मिलने पर द्रौपदी ने मोहन को पुकारा, मोहन ने अपने वचन के अनुसार अपनी योग माया से साड़ी को इतना बढ़ा दिया कि दुःशासन साड़ी खिचते-खिचते थक गया. इस तरह भगवान श्रीकृष्ण ने द्रौपदी ली लाज बचा ली. तभी से रक्षाबन्धन मनाया जाने लगा. बहनें raksha bandhan के दिन अपने भाइयों के हाथ पर रक्षासूत्र बांध कर हर प्रकार की सुरक्षा का वचन चाहती हैं.  मुझे उम्मीद है की यह आपको पसंद आई होगी और आपको पता भी चल गया होगा कि raksha bandhan Kyon manaya jata hai? है. मित्रों और भी hindi stories के लिए इस लिंक pari ki kahani in hindi/परी की कहानी पर क्लिक करें.

About the author

Abhishek Pandey

Leave a Comment