You cannot copy content of this page
Biography

sachin tendulkar biography

sachin tendulkar biography
sachin tendulkar biography
Written by Hindibeststory

sachin tendulkar biography sachin tendulkar का जन्म २४ अप्रैल १९७३ में मराठी ब्राह्मण परिवार में महाराष्ट्र के मुंबई में हुआ था. सचिन क्रिकेट के इतिहास में विश्व के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में गिने जाते हैं. उन्होंने अपने खेल की शुरुआत १९८९ मे की थी. sachin बल्लेबाजी में कई कीर्तिमान स्थापित कर चुके हैं. उन्होंने टेस्ट व एक दिवसीय क्रिकेट, दोनों मे सर्वाधिक शतक अर्जित किये हैं. sachin टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. इसके साथ टेस्ट क्रिकेट में १४००० से अधिक रन बनाने वाले वे विश्व के एकमात्र खिलाड़ी हैं. एकदिवसीय मैचों मे भी उन्हें कुल सर्वाधिक रन बनाने का कीर्तिमान प्राप्त है.

sachin tendulkar full name – सचिन रमेश तेंदुलकर

sachin tendulkar father name – रमेश तेंदुलकर

sachin tendulkar mother name – रजनी तेंदुलकर

sachin tendulkar date of birth – १४ अप्रैल १९७३

sachin ntendulkar birhday – १४ अप्रैल

sachin tendulkar birth place – मुंबई , महाराष्ट्र

sachin tendulkar wife name – अंजलि तेंदुलकर

sachin tendulkar son name – अर्जुन तेंदुलकर

sachin tendulkar daughter name – सारा तेंदुलकर

sachin tendulkar height – ५.५ इंच

sachin tendulkar first international ODI match – १९८९ पाकिस्तान के खिलाफ

sachin tendulkar last Odi match – १८ मार्च २०१२ पाकिस्तान के खिलाफ

sachin tendulkar first test match – १५ नवम्बर १९८९ , पाकिस्तान के खिलाफ

sachin tendulkkar last test maitch – १४ नवम्बर २०१३ पाकिस्तानन के खिलाफ

sachin tendulkar brother name – अजीत तेंदुलकर , नितिन तेंदुलकर

sachin tendulkar sister name – सविताई

sachin tendulkar coach / guru – रमाकांत आचरेकर

एकदिवसीय मैचों मे भी sachin को सर्वाधिक रन बनाने का कीर्तिमान प्राप्त है. सचिन ने अपना पहला प्रथम श्रेणी क्रिकेट मुंबई के लिए मात्र १४ वर्ष के उम्र में खेला . उनके अन्तर्राष्ट्रीय खेल जीवन की शुरुआत १९८९ मे पाकिस्तान के खिलाफ कराची से हुई. सचिन तेंदुलकर राजिव गांधी खेल रत्न से सम्मानित एकमात्र क्रिकेट खिलाड़ी हैं. tendulkar सन २००८ मे पद्म विभूषण से भी पुरस्कृत किये जा चुके है. वे क्रिकेट जगत के सर्वाधिक प्रायोजित खिलाड़ी हैं और विश्वभर मे उनके अनेक प्रशंसक हैं. उनके प्रशंसक उन्हें प्यार से लिटिल मास्टर व मास्टर ब्लास्टर कह कर बुलाते हैं. राजापुर के मराठी परिवार मे जन्मे sachin tendulkar का नाम उनके पिता रमेश तेंडुलकर ने उनके चहेते संगीतकार सचिन देव बर्मन के नाम पर रखा था.

sachin tendulkar के बड़े भाई अजीत तेंडुलकर ने उन्हें खेलने के लिये प्रोत्साहित किया था. १९९५ मे सचिन तेंडुलकर का विवाह अंजलि तेंडुलकर से हुआ. सचिन के दो बच्चे हैं – सारा व अर्जुन. सचिन ने शारदाश्रम विद्यामंदिर में अपनी शिक्षा ग्रहण की. वहीं पर उन्होंने प्रशिक्षक (कोच) रमाकांत अचरेकर के सान्निध्य में अपने क्रिकेट जीवन का आगाज किया. तेज गेंदबाज बनने के लिये उन्होंने एम0आर0एफ0 पेस फाउंडेशन के अभ्यास कार्यक्रम में शिरकत की. पर वहाँ तेज गेंदबाजी के कोच डेनिस लिली ने उन्हें पूर्ण रूप से अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान केंद्रित करने को कहा. अभ्यास के दौरान सचिनन तेंदुलकर के कोच स्टम्प्स पर एक रुपये का सिक्का रख देते, और जो गेंदबाज सचिन को आउट करता, वह् सिक्का उसी को मिलता था और यदि सचिन बिना आउट हुये पूरे समय बल्लेबाजी करने मे सफल हो जाते, तो ये सिक्का उन्हें मिलता था. इस दौरान सचिन ने १३ सिक्के जीते और सचिन के अनुसार उस समय उनके द्वारा जीते गये 13 सिक्के आज भी उन्हे सबसे ज्यादा प्रिय हैं.

१९८८ में स्कूल के एक हॅरिस शील्ड मैच के दौरान साथी बल्लेबाज विनोद कांबली के साथ सचिन ने ऐतिहासिक ६६४ रनों की अविजित साझेदारी की. इस धमाकेदार जोडी के अद्वितीय प्रदर्शन के कारण एक गेंदबाज तो रो ही दिया और विरोधी पक्ष ने मैच आगे खेलने से इंकार कर दिया. सचिन ने इस मैच में ३२० रन और प्रतियोगिता में हजार से भी ज्यादा रन बनाये. सचिन दायें हाथ के बल्लेबाज है और वे गीद्बाजी भी दायें हाथ से करते हैं, लेकिन लिखते बाई हाथ से हैं. sachin tendulkar अपनी बल्लेबाजी की अनूठी पंच शैली के लिये भी जाने जाते हैं. सन् २००४ के दौरान वे कई बार चोटग्रस्त रहे और इस वजह से उनकी बल्लेबाजी की आक्रामकतामें थोड़ी कमी आई है. सचिन ने बहुत ही कम उम्र में भारतीय टीम में जगह प्राप्त की. १५ नवंबर १९८९ को कराची में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच खेलने जो भारतीय टीम उतरी, उसमें सिर्फ १६ साल का एक किशोर भी था. घुंघराले बालों और गदबदे गालों वाले उस किशोर sachin tendulkar को पाकिस्तानी दर्शक चिढाने के लिए कार्ड दिखा रहे थे जिन पर लिखा था- सचिन, घर जा कर दूध पिओ. लेकिन इस दुधमुंहे से दिखते किशोर ने सभी पाकिस्तानी गेंदबाजों- खास कर उनके महान स्पिनर अब्दुल कादिर की गेंदों पर जो छक्के मारे उन्होंने सभी का मुंह सिल दिया.

उसक्के बाद सचिन तेंदुलकर भारतीय टीम की रीढ़ की हड्डी बन गए. जब तक सचिन क्रीज पर रहते भारतीय क्रिकेट प्रेमियों की उम्मीद भी ज़िंदा रहती थी. सचिन ने अपने क्रिकेट करियर में अनेकों रिकार्ड बनाए . जिनमें से कुछ के बारे में हम आपको बता रहे हैं .

१- मीरपुर में १६ फरवरी २०१२ को बांग्लादेश के खिलाफ १०० वां शतक.

२- एकदिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में दोहरा शतक जड़ने वाले पहले खिलाड़ी.

३- एकदिवसीयअन्तर्राष्ट्रीय मुकाबले में सबसे ज्यादा ( १८००० से अधिक ) रन.

४- एकदिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय मुक़ाबले में सबसे ज्यादा ४९ शतक.

५- एकदिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय विश्व कप मुक़ाबलों में सबसे ज्यादा रन .

६- टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा ५१ शतक.

७- आस्ट्रेलिया के खिलाफ ५ नवम्बर २००९ को १७५ रन की पारी के साथ एक दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में १७ हजार रन पूरे करने वाले पहले बल्लेबाज बने.

८- टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रनों का कीर्तिमान.

९-एकदिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय मुक़ाबले में सबसे ज्यादा मैन ऑफ द सीरीज.

१०- एकदिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय मुक़ाबले में सबसे ज्यादा मैंन आफ द मैच .

सचिन तेंदुलकर को ४ फ़रवरी २०१४ को भारत रत्न से नवाजा गया. १९९४ में सचिन को अर्जुन पुरस्कार , १९९७ – ९८ में राजिव गांधी खेल रत्न पुरस्कार, १९९९ पद्मश्री , २००१ में महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार , २००८ में पद्म विभूषण से सम्मानित किया जा चूका है.

मित्रों आपको यह जानकारी sachin tendulkar biography कैसी लगी जरुर बताएं और sachin tendulkar biography की तरह की और भी जानकारी के लिए इस ब्लॉग को लाइक , शेयर करें और घंटी दबाकर ब्लॉग को सबस्क्राइब करना ना भूलें. दूसरी जानकारी के लिए निचे की लिंक पर क्लिक करें.

१- bhakti ki kahani

2-new hindi kahani

3-virat kohli biography in hindi / virat kohli biodata

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment