You cannot copy content of this page
हास्य कहानिया

shekh chilli kahani

shekh chilli kahani
shekh chilli kahani
Written by Hindibeststory

shekh chilli kahani नौकरी की तलाश में शेख चिल्ली समुद्र किनारे बंदरगाह पर पहुंचे. वहाँ उन्हें एक विदेशी जहाज में काम मिल गया. वह जहाज एक दिन लन्दन के लिए रवाना हुआ और शेख चिल्ली लन्दन पहुँच गए. लन्दन पंहुच कर उन्होंने स्नान आदि किया और फिर शहर घुमाने निकल पड़े. कुछ दूर चलने पर उन्हें एक अंग्रेज दिखाई दिया . उसके पास एक पेटी राखी हुई थी, जिसमें शराब की बोतलें भरी हुई थी.

शेख जी को देखकर वह अंग्रेज समझ गया कि शायद यह आदमी कुली है तो उसने shekh chilli से अंग्रेजी में इशारे के पूछा कि तुम कुली हो. अब shekh chilli तो अंग्रेजी जानते नहीं थे, लेकिन इशारे से वह समझ गए ही यह सामान पहुंचाने की बात कर रहा है उन्होंने कहा ” हाँ, बताओ कहाँ चलू”

उन्होंने सामन उठाया और चल दिए . कुछ दूर अंग्रेज रुक गया और पेटी लेकर शेखजी को कुछ पैसे दिए और बोला ” थैंक यू ” . अब shekh chilli से समझ लिया उल्टा . उन्हें लगा कि अंग्रेज कर रहा है फेंक दूँ . अब क्या उन्होंने जल्दी से पेटी उठाकर फेंक दी और सारी बोतल टूट गयी. अब उस अंग्रेज ने डंडा लेकर shekh जी को दौड़ा लिया . शेख जी आगे – आगे और अंग्रेज पीछे – पीछे भागे जा रहे थे, भागते – भागते वे एक इंडियन होटल में घुस गए और जब मालिक ने देखा यह तो इंडियन है तो उसने पूछा मियाँ क्या हो गया. क्यों भाग रहे हो ?

shekh chilli ने उसे पूरी कहानी फ़टाफ़ट बता दी. मालिक को माजरा समझ में आ गया. उसने उन्हें मेज के नीचे छुपा लिया. कुछ देर में अंग्रेज आया और शेख चिल्ली को ना पाकर बडबडाते हुए चला गया. उसके चले जाने के बाद शेख बाहर निकले और खाना ऑर्डर किया . खाना खाने के बाद मालिक से पान माँगा और पान मुंह में दबाये चल दिए. थोड़ी देर में वे एक चौराहे पर पहुंचे तो पीक मार दी. वे ठुक कर पलटे ही थे कि बहुत से लोगों ने उन्हें घेर लिया और उन्हें अस्पताल ले गए और बोला की इनके मुंह से खून निकलने की वजह से इन्हें खून की कमी हो गयी है. शेख जी को अस्पताल में दाखिल कर लिया गया और जब वे अस्पताल से मोटे – ताजे हो गए थे. वे मन ही मन सोचे यार लन्दन तो बड़ा बढियां है . अब यही रुक जाता हूँ.

एक दिन वे एक होटल पहुंचे और खाना आर्डर किया. तभी उन्होंने देखा कि वेटर शरबत रख गया है. उन्होंने आव देखा न ताव झट से पूरी ग्लास खाली कर दी. वे सोचने लगे अरे वाह …आज तो मुझे हर चीज डबल दिखाई दे रही है. अरे वहाँ एक बत्ती की दो बत्ती , एक लड़की की दो लड़की . तभी वे एक गाना गाते हुए ठुमक – ठुमक कर नाचने लगे. होटल में बैठे लोग शेख जी को नाचता देखकर तालियाँ बजाने लगे. थोड़ी देर में काफी भीड़ जुट गयी. शेख जी मदमस्त होकर नाच रहे थे. भीड़ बढ़ने के साथ ही होटल की बिक्री भी बढ़ गयी.

होटल के मालिक ने मैनेजर से की इस डांसर को नौकरी पर रख लो. ओके सर डांस समाप्त होने पर इससे बात करूँगा. तभी वहाँ दो इन्डियन भी पहुँच गए. उन्होंने शेख जी नाचता देकहकर बोला ” यह तो लौंडा नाच है ” . यह सुनते ही शेख जी उनपर भड़क गए . अब क्या उन दोनों ने शेख जी की ठुकाई कर दी. होटल में भगदड़ मच गयी. बहुत सारे सामान टूट गए. शेख जी को बड़ी मार पड़ी.

अगले दिन जब उन्हें होश आया तो वे समुद्र किनारे पड़े थे. वे इधर उधर देखने लगे . तभी उन्हें एक जहाज नजर आया जो इंडिया के लिए निकलने वाला था. उन्होंने दौड़कर जहाज का रस्सा पकड लिया और सामन के ढेर में छिपकर बैठ गए. किसी तरह वे इंडिया आये और कभी भी भूलकर विदेश नहीं जाने की कसम खायी.

मित्रों आपको मेरी यह hindi kahani shekh chilli kahani कैसी लगी जरुर बताएं और भी hindi kahani के लिए इस ब्लॉग को लाइक, शेयर और सबस्क्राइब करें . इस ब्लॉग पर रोज कहानिया और जानकारी पोस्ट होती है. दूसरी hindi kahani के लिए इस लिंक kahani in hindi पर क्लिक करें.

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment