Suspense Story

small mystery story

small mystery story
small mystery story
Written by Hindibeststory

small mystery story राधिका यह क्या कर रही हो. एक छोटी बच्ची तुम नहीं संभाल सकती. अब तक वह मेरे गाडी के नीचे आ जाती.

अच्छा अब यह भी मेरी गलती है ना. कितनी बार कहा कि गाडी स्लो चलाया करों, लेकिन मेरी इस घर में सुनता ही कौन है. राहुल मेरी नसीब ही खराब थी जो तुमसे मेरी शादी हो गई.

तो मैं कौन सा मरा जा रहा था तुमसे शादी करने के लिए. अच्छी खासी नौकरी थी. ऊपर कि कमाई भी.

तुमसे बात करना भी बेकार है….सोनू प्रिया को लेकर जा और इसे तैयार कर दे.

यह कहानी वाराणसी के राहुल की है. घर में राहुल उसकी पत्नी राधिका उनकी बेटी प्रिया और नौकरानी सोनू रहती है. सोनू और राधिका कि खूब जमती है. सोनू एक चापलूस किस्म कि औरत है.

साहब का तो रोज मूड ही खराब रहता है…जब देखो तब रौब झाड़ते रहते हैं…सोनू ने राधिका को मस्का लगाते हुए कहा

छोड़ जाने दे ऐसे लोगों के मुंह नहीं लगते है.

अगले दिन सुबह का समय. रोज की तरह राहुल मार्निक वाक पर गए हुए हैं. तभी पीछे से एक लड़की की आवाज आती है…राहुल..राहुल. राहुल रुक जाता है. लड़की करीब आती है. पहचाने मुझे… राहुल के ना में सिर हिलाने पर अरे मैं अदिति.

ओह हाँ याद आया अदिति और कैसी हो. यहाँ कैसे? राहुल ने पूछा

मेरी जाब लगी है यहाँ पर तो यहीं कमरा लेकर रहती हूँ . लेकिन तुम यहाँ कैसे ?

मैं तो यही रहता हूँ. मम्मी पापा के कार एक्सीडेंट में गुजरने के बाद यही शिफ्ट हो गया हूँ.

ओह अच्छा, शादी वगैरह हुई…अदिति ने पूछा

हाँ…एक बेटी भी है.

चलो फिर आज तुम्हारे घर चलती हूँ.

घर…..राहुल थोड़ा सकपकाया

नहीं अगर कोई प्राब्लम है तो जाने दो.

अरे नहीं, कोई प्राब्लम नहीं है.

दोनों घर पहुंचते हैं.तभी राहुल की पत्नी बोलती है यह कौन है?

यह मेरी दोस्त है.

दोस्त..कबसे है यह दोस्ती.

हम कालेज से जानते हैं एक दुसरे को.

इसकी पास कपड़ों की कमी है क्या , जो इतना सा कपड़ा पहनी है.

यह मार्निंग वाक् शूट है…. वैसे आपको भी चलना चाहिए मार्निक वाक् पर अदिति ने कहा

यह फालतू लोगों का काम है, जैसे तुम.

राधिका..कैसी बात कर रही हो. घर आये मेहमान से ऐसे बात करते हैं.

हुंह….मेहमान यह कहकर राधिका चली गयी.

सारी यार…..

इट्स ओके राहुल

कुछ देर बाद राधिका आती है और नौकरानी से पुचाती है कि कब गयी वह चुड़ैल.

पुरे आधे घंटे बाद. मालिक उसे अपने कमरे में ले गए थे और

चुप…. मैं देखती हूँ कहकर राधिका चली जाती है.

अगले दिन सुबह मार्निक वाक् पर

सारी अदिति..कल के लिए

कोई नहीं

वैसे तुमने ऐसी लड़की से शादी ही क्यों की. तुम्हे तो बहुत लड़कियां मिल जाती.

अरे इसके बाप के वजह से.

यह नौकरी इसके साथ शादी करने की कीमत पर मिली है.

आप पढ़ रहे हैं small mystery story

ओह….

मालकिन आप इतनी खुबसूरत हो और मालिक आप पर ध्यान ही नहीं देते. आजकल वे उस अदिति के पीछे पड़े हुए हैं.

अरे छोड़ ना…मैं जब चाहूँ ऐसे लड़को की लाइन लगा दूँ.

अरे मालकिन बोलने से कुछ नहीं होता है. ऐसा करना पड़ता है. तबव मालिक सुधरेंगे.

एक काम कर सोनू..मेरा एक फेसबुक अकाउंट बना और उसपर एक हाट सी मेरी इमेज दाल और उम्र डालना २१ साल,

यह हुई ना बात .

शाम का समय

मालकिन फ्रेंड रिक्वेस्ट की तो बाढ़ आ गयी.

क्या कहा था मैंने.

सबको ऐसेप्ट कर ले.

इसने क्या रिप्लाई दिया है. वैरी हाट जानू.

सोनू इसका अकाउंट चेक कर तो.

बहुत हाट और स्वीट है मालकिन.

इसको रिप्लाई दे और सेक्सी बाते कर..

मालकिन नंबर मांग रहा है.

बोल कल तक इन्तजार करे.

अगली सुबह

क्या शायरी लिखा है मालकिन..अभी नंबर दे दूँ इसे .

हाँ दे दे

हैलो…मैं करन

हाँ बोलो..कैसे हो

जब से आपका फोटो देखा हूँ ना रातों में नींद है ना दिन में चैन.

आप तो बड़े फ़िल्मी हो.

तो चलो मिलो आज , फिल्म दिखा लाते हैं आपको.

राधिका करन से मिलती है और यह सिलसिला काफी आगे तक बढ़ जाता है. वह करन के प्यार में पागल हो जाती है. एक राहुल के मोबाइल पर अदिति का मैसेज आता है और ययः देखकर वह सन्न हो जाता है. वह सीधा घर पहुंचता है और

मुझसे छुप छुपकर किससे मिलती हो.

किसी से मिलूं…आपसे मतलब ?

हाँ है मतलब मेरी बदनामी होती है.

मैं ऐसा कोई काम नहीं करती जिससे बदनामी हो.

आप पढ़ रहे हैं small mystery story

अच्छा तो यह क्या है और वह अदिति का भेजा हुआ विडिओ दिखा देता है. आज से तुम्हारा घर से निकलना बंद.

मैं अपने डैड को बोलूंगी.

तुम क्या बोलोगी. मैं खुद उन्हें सब बता दूंगा.

दो दिन बाद…

राधिका कि मोबाइल बजी….उस पर करन का फोन था.

हैलो क्या हुआ…जानू

तुम दो दिन से आई नहीं..ना ही कोई काल ना मैसेज…मेरे मैसेज का कोई जवाब भी नहीं दिया. तुमने मुझसे सच्चा वाला प्यार नहीं किया है.

अरे ऐसी बात नहीं है. मेरे पति को शक हो गया है.

वह तो होना ही था. तुम एक बार मुझसे मिलो..मैं तुम्हे सब बताता हूँ.

ठीक है…..

अगले दिन

राधिका..राधिका…प्रिया बेटे

प्रिया…क्या हुआ बेटे

सोनू जल्दी आओ….डाक्टर को फोन करो.

संभालो राहुल जी. जो होना था वह तो हो गया. मैंने इन्स्पेक्टर पाण्डेय जी को मुला लिया है.

सर मैंने कभी नहीं सोचा था कि राधिका अपनी ही बेटी का खून कर देगी.वह पुरे १ करोड़ रुपये लेकर गयी है.

मैंने आपकी पत्नी को होटल कायनात से गिरफ्तार कर लिया है. वहा करन उसे बेहोश करके पुरे पैसे लेकर भाग गया है.

हम पता लगा रहे हैं.

इधर राहुल राधिका का फेसबुक अकाउंट खंगालने लगा…..तो उसमें एक चीज देखकर चौंक गया.

५ दिन बाद

आप पढ़ रहे है small mystery story

और पार्टनर….इस बार तो मुर्गा बड़ा लगा. इसमें से आधा हिस्सा कर दिया है. ५० लाख तेरा और ५० मेरा.

छोड़ ना यार..पूरा तू रख और यहाँ से निकल जा…. राहुल अब मेरे जाल में फंस गया है….

ना अदिति…तू मेरे जाल में फंसी है….पकड़ लीजिये इन्स्पेक्टर साहेब इन दोनों को.

अदिति मुझे तुमपर शक नहीं था. लेकिन एक दिन जब मैंने तुम्हे फेसबुक पर राहुल की फ्रेंड लिस्ट में देखा तो मेरा दिमाग चकराया और मैंने यह बात इन्स्पेक्टर साहेब को बताई. उन्होंने तुम्हारा फोन सर्विलांस पर रख दिया और तुम दोनों का खेल ख़त्म हो गया.

मित्रों मेरी यह suspense story small mystery story आपको कैसी लगी जरुर बताएं और small mystery story के तरह की suspense story के लियेक ब्लॉग को सबस्क्राइब कर लें और small mystery story की दूसरी suspense story के लिए इस लिंक Ek Ladaki ka PRATISHODH Hindi suspense story पर क्लिक करें.

About the author

Hindibeststory

Leave a Comment