cinderella and kids story

stories for kids

stories for kids
Written by Abhishek Pandey

stories for kids एक बार एक संत एक नदी में स्नान कर रहे थे. तभी वहाँ से एक राहगीर गुजरा और संत को नहाता देख कुछ पूछने के लिए वहीँ रुक गया. जब संत बाहर आये तो उसने संत को प्रणाम किया और पूछा महात्मा जी, एक बात बताईये यहां के लोग कैसे हैं. क्योंकि मैं दूसरी जगह से आया हूँ और नया होने के कारण मुझे इस स्थान के बारे में जानकारी नहीं है. जब मैंने आपको देखा तो सोचा कि आपसे अच्छी जानकारी कोई और नहीं दे सकता है. आप महात्मा हैं इसीलिए आप सत्य ही बोलेंगे.

stories for kids

तब संत ने कहा अच्छा मेरे एक सवाल का जवाब दो, फिर मैं आपको बताऊंगा.

ठीक है उस व्यक्ति ने कहा

बेटा तुम जिस जगह से आ रहे हो वहा की लोग कैसे हैं.

यह सुनते ही वह राहगीर बोला.. महाराज वहाँ के लोग निहायत ही दुष्ट और कपटी हैं. हमेशा सबको परेशान करते हैं. इसीलिए मैं यहाँ आया हूँ.

तब संत ने कहा इस गाँव में भी वैसे ही लोग मिलेंगे… कपटी और दुष्ट . यह सुनकर वह राहगीर चला गया. थोड़ी समय बाद एक और राहगीर उधर से गुजरा और उसने भी संत से वही सवाल किया और फिर से संत ने उससे भी पूछा आप जहां रहते हो वहाँ के लोग कैसे हैं.

इस पर उस राहगीर ने कहा …महाराज वहां के लोग बहुत ही नेकदिल और अच्छे हैं. मेरा तो वहाँ से कही और जाने का मन ही नहीं था, लेकिन व्यापार के सिलसिले में इस तरफ आना हुआ तो यह जगह मुझे पसंद आ गयी, इसीलिए आपसे पूछ लिया.

इस पर संत ने कहा बेटा यहाँ के लोग भी बहुत ही सुलझे हुए और नेकदिल हैं. तुझे यहा कोई दिक्कत नहीं होगी. उस राहगीर ने संत को प्रणाम किया और चला गया. उसके जाने के बाद संत का एक शिष्य जो इस पुरे घटनाक्रम को बड़े ही ध्यान से देख रहा उसने पूछा ” गुरूजी आपने दोनों राहगीरों को अलग अलग जवाब क्यों दिया. हमें तो कुछ समझ मेनन नहीं आया.”

इस पर संत मुस्कुराए और फिर बोले ” आमतौर पर हम अपने आस पास की चीजों को जैसे देखते हैं वैसे होती नहीं है. हम अपने अनुसार चीजों को देखते हैं. अर्थात अगर हम अच्छाई देखना चाहें तो हमें अच्छे लोग मिल जायेंगे और अगर बुराई देखना चाहें तो बुरे लोग मिल जायेंगे. लोगों के प्रति हमारी जैसी सोच रहती है हमें वैसे ही लोग मिलते हैं. यह सब देखने के नजरिये पर निर्भर करता है. ”

शिष्य को बात समझ आ गयी और उसने कहा महाराज आपने जो बात बताई वही जिंदगी का सार है, तो मित्रों मेरी यह moral storie stories for kids आपको कैसी लगी अवश्य ही बताएं और अन्य moral stories के लिए इस ब्लॉग को सबस्क्राइब जरुर करें और दूसरी अन्य moral stories के लिए इस लिंक birbal stories पर क्लिक करें.

About the author

Abhishek Pandey

Leave a Comment