You cannot copy content of this page
kids/cinderella story

अर्जुन का घमंड

अर्जुन का घमंड
अर्जुन का घमंड
Written by Hindibeststory

अर्जुन का घमंड एक बार की बात है. अर्जुन को इस बात का घमंड हो गया कि वे ही भगवान् श्री कृष्ण के सबसे बड़े भक्त हैं. उनकी इस भावना को श्रीकृष्ण ने समझ लिया. एक दिन भगवान् कृष्ण ने अर्जुन को साथ ले भ्रमण पर निकले. रास्ते में उनकी मुलाकात एक गरीब ब्राह्मण से हुई. उसका व्यवहार थोड़ा विचित्र था. वह सूखी घास खा रहा था और उसकी कमर से तलवार लटक रही थी. अर्जुन ने उससे पूछा… आप तो अहिंसा के पुजारी हैं. जीव हिंसा के भय से सूखी घास खाकर अपना गुजारा करते हैं. लेकिन फिर हिंसा का यह उपकरण तलवार क्यों आपके साथ है? ब्राह्मण ने जवाब दिया … मैं कुछ लोगों को दंडित करना चाहता हूं और इसीलिए अपनी साथ तलवार रखता हूँ. आपके शत्रु कौन हैं? अर्जुन ने जिज्ञासा जाहिर की. ब्राह्मण ने कहा, मैं चार लोगों को खोज रहा हूं, जिससे मैं उन्हें दण्डित कर सकूँ. सबसे पहले तो मुझे नारद की तलाश है. नारद मेरे प्रभु को आराम नहीं करने देते, सदा भजन-कीर्तन कर उन्हें जागृत रखते हैं. फिर मैं द्रौपदी पर भी बहुत क्रोधित हूं. उसने मेरे प्रभु को ठीक उसी समय पुकारा, जब वह भोजन करने बैठे थे. उन्हें तत्काल भोजन चूदकर पांडवों को दुर्वाषा ऋषि के श्राप से बचाने जाना पड़ा . इसपर भी उसकी धृष्टता तो देखिए. उसने मेरे भगवान को जूठा खाना खिलाया. आपका तीसरा शत्रु कौन है? अर्जुन ने पूछा…. वह है हृदयहीन प्रह्लाद. उस निर्दयी ने मेरे प्रभु को गरम तेल के कड़ाह में प्रविष्ट कराया, हाथी के पैरों तले कुचलवाया और अंत में खंभे से प्रकट होने के लिए विवश किया. और चौथा शत्रु है अर्जुन। उसकी दुष्टता देखिए। उसने मेरे भगवान को अपना सारथी बना डाला. उसे भगवान की असुविधा का तनिक भी ध्यान नहीं रहा. कितना कष्ट हुआ होगा मेरे प्रभु को.

यह कहते ही ब्राह्मण के आखों से अश्रु छलक पड़े और यह देख अर्जुन का घमंड चूर – चूर हो गया.उन्हें बहुत पश्चाताप हुआ. उन्होंने कान्हा से क्षमा माँगते हुए कहा…सच बात है प्रभु…इस संसार में ना जाने आपके कितने तरह के भक्त हैं..मैं उनके सामने कुछ भी नहीं हूँ…मित्रों आपको यह hindi kahani अर्जुन का घमंड कैसी लगी जरुर बताएं और इस तरह की hindi kahani के लिए इस ब्लॉग को लाइक , शेयर और घंटी दबाकर सबस्क्राइब जरुर करें और दूसरी hindi kahani के लिए निचे की लिंक पर क्लिक करें.

१- surya bhagwan image

2-jaya prada biography / जया प्रदा की जीवनी

3-bhangarh ka kila

About the author

Hindibeststory

1 Comment

Leave a Comment