Uncategorized

tanot mata temple

tanot mata temple

tanot mata temple भारत के मंदिरों में अक्सर चमत्कार के किस्से सुनाने के मिलते हैं . आज ऐसे ही एक चमत्कारिक tanot mata mandir के बारे में आप लोगों को बताने जा रहा हु. जहां पर इक दो नहीं बल्कि हजारों बमों से भी इस चमत्कारी tanot mata temple का कुछ नहीं बिगाड सके.

tanot mata temple पाकिस्तान बार्डर से मात्र २० किलोमीटर पहले राजस्थान के जैसलमेर के तनोट गांव में स्थित है. यहाँ पर नवरात्रि के दिनों में साल में दो बार लगने वाले मेले हजारों की संख्या में श्रद्धालु tanot mata के दर्शन को आते हैं.

tanot mata temple
tanot mata temple

भारत और पाकिस्तान के बीच हुए १९६५ और १९७१ के युद्ध के दौरान पाकिस्तानी सेना की ओर से इस क्षेत्र में जबरदस्त बमबारी की गयी थी. बताते हैं कि दोनों युद्धों के दौरान पाकिस्तान की सेना की ओर से गिराए गए लगभग ३००० बमों में से एक भी बम नहीं फटा. इनमें से कुछ बम आज भी रखे हुए है. इस tanot mata mandir का संचालन पूरी तरह से सेना ही करती है. मंदिर की साफ सफाई के अलावा मन्दिर में ३ समय होने वाली आरती और अन्य पूजा पाठ बीएसएफ के जवान ही करते हैं.

tanot mata के चमत्कारों के आगे नतमस्तक हुए पाकिस्तानी ब्रिगेडियर शाहनवाज खान ने भारत सरकार से tanot mata mandir के दर्शन की अनुमति देने का अनुरोध किया. करीब ढाई साल की जहोद्दद की बाद भारत सरकार से अनुमति मिलने पर ब्रिगेडियर शाहनवाज खान ने ना सिर्फ दर्शन किये बल्कि एक चांदी का छत्र भी चढ़ाया , जो आज भी मंदिर में इस घटना का गवाह है.

tanot mata temple में प्रतिदिन सीमा सुरक्षा बल की जाने वाली आरती में भक्ति भावना के साथ ही जोश का अनूठा मेल नजर आता है. यहाँ भक्त रुमाल बांधकर मन्नत माँगते हैं और मन्नत पूरी होने पर रुमाल खोली जाती है. इसीलिए tanot mata को रुमाल वाली देवी भी कहा जाता है. मित्रों यह bhakti story tanot mata temple आपको कैसी लगी , कमेन्ट में बताये और साथ ही ब्लॉग को सबस्क्राइब करना ना भूले और भी अन्य bhakti kahani के लिए इस लिंक https://www.hindibeststory.com/matsyaavatar-ki-bhakti-pauranik-katha/पर क्लिक करें.

About the author

Abhishek Pandey

Leave a Comment