Uncategorized

tenali ramakrishna stories

tenali ramakrishna stories
Written by Abhishek Pandey

tenali ramakrishna stories महाराजा कृष्णदेव राय tenali से अक्सर उलटे सीधे सवाल पूछते रहते थे. tenali भी उन्हें वैसे ही उत्तर देते थे. एक राजा ने ऐसे ही tenalirama से पूछा ” क्या तुम बता सकते हो कि राजधानी में कुल कितने कौए रहते हैं ?”

हाँ क्यों नहीं , बिलकुल बता सकता हूँ …. tenali ने झट से उत्तर दिया

लेकिन एकदम सही बताना..राजा ने हिदायत दी

जी महाराज एक दम सही बताऊंगा. इधर दरबारी बड़े खुश हुए इस बार तो tenalirama जरुर ही फंसेगा. दरबारी tenali से बहुत ही जलाते थे. लेकिन वे शायद इस बात पर गौर नहीं करते थे कि तेनाली अपनी बुद्धि की वजह से प्रथम हैं. tenalirama ने इसके लिए दो दिन का समय माँगा .

राजा ने समय देते हुए कहा कि गिनती होने पर संख्या कम ज्यादा निकली तो ?

महाराज ऐसा नहीं होगा. आप निश्चिन्त रहें …. tenalirama ने पुरे आत्मविश्वास से कहा

दो दिन के बाद tenalirama दरबार में उपस्थित हुए. दरबारियों में उत्सुकुता बढ़ी हुई थी. महाराजा ने आते ही tenali से पूछा ” कितने कौए हैं ?”

जी महाराज पुरे एक लाख दो हजार आठ सौ अस्सी . बड़ी ही मेहनत से गिने हैं मैंने .

अगर कम ज्यादा हुए तो , क्योंकि मैंने भी गिनवाने के लिए कुछ कर्मचारियों को बुला लिया है….महाराज ने कहा

अब दरबारी तो खुश हो गए . आज तो telanirama जरुर ही पकड़ा जाएगा और इसे बड़ी सजा होगी और हम लोग चैन की सांस ले पायेंगे …वे ऐसा सोच ही रहे थे कि इतने में tenali बोले ” महाराज , बिना किसी संकोच के आप गिनती करवाईये . मैंने भी बड़ी मेहनत से गिनती की है. लेकिन इक बात का ध्यान रखियेगा अगर राजधानी में कौवों की संख्या बढ़ी रहेगी तो हो सकता है उनके कुछ रिश्तेदार , मित्र उनसे मिलने आये हों और अगर कौवों की संख्या घटी रहेगी तो हो सकता है कौवे राजधानी के बाहर अपने रिश्तेदारों सी मिलने गए हों “, नहीं तो एक लाख दो हजार आठ सौ अस्सी ही होंगे.

राजा tenali की बातों पर खूब हँसे और दरबारी अन्दर ही अन्दर कुढ़ कर रह गए. मित्रों मेरी यह tenalirama की कहानी tenali ramakrishna storties आपको कैसी लगी अवश्य ही बताएं और भी अन्य hindi stories के लिए इस ब्लॉग को सबस्क्राइब कर लें, यहाँ पर रोज नयी कहानिया मिलती रहती हैं और भी अन्य hindi kahani के लिए इस लिंक  ayushman bharat yojana in hindi पर क्लिक करें.

About the author

Abhishek Pandey

Leave a Comment