You cannot copy content of this page
Tecnology

blogging kya hai और कैसे करें

blogging kya hai और कैसे करें
blogging kya hai और कैसे करें
Written by Hindibeststory

blogging kya hai और कैसे करें मित्रों आपको आज मैं बताने जा रहा हूँ blogging क्या होती है / what is blogging . यह मेरी site multiple niche की है और इसके तहत आज मैं tecnology category के माध्यम से आपको ब्लोगिंग क्या होती है, इसके बारे में विस्तार से बताने जा रहा हूँ . जिससे मेरी इस साईट से जुड़े लोगों को तथा और भी लोगों को इस बारे में पता चले और वे इसका उपयोग कर सके . इसके साथ ही आपको कहानिया, बायोग्राफी आदि तो नियमित रूप से इस साईट पर मिलती रहेगी. चलिए आते हैं अपने में टोपिक पर .

दोस्तों आपने सुना हो कि फलाना आदमी ब्लॉग्गिंग करता है . वह blogger है. तो आप भी सोचते होंगे कि blogging kya hai . मित्रों यहाँ आपको बता दूँ कि ब्लोग्गिंग के पहले आपको समझना आवश्यक है कि ब्लॉग क्या होता है क्या है. आप इस लिंक पर जाकर यह समझ ही चुके होंगे कि ब्लॉग क्या होता है. तो आईये अब जानते हैं कि blogging kya hai .

what is blogging in hindi

मित्रों किसी ब्लॉग या वेबसाईट पर लिखना या उस पर काम करना ब्लोगिंग कहलाता है. ब्लोगिंग दो तरह की होती है.

1- Event Blogging –

इवेंट ब्लोगिंग छोटे समय के लिये किसी इवेंट को टार्गेट करके की जाती है. जैसे कोई त्यौहार आने वाला हो या गर्मी का सीजन या फिर इस तरह से टार्गेट करके उस पर पोस्ट , कंटेंट लिखा जाता है.

2- Permanent Blogging

इस तरह की ब्लॉग्गिंग लम्बे समय के टार्गेट के हिसाब से रहती हैं. इस पर किसी इवेंट को टार्गेट नहीं किया जाता है. जैसे मैं इस वेबसाईट पर परमानेंट ब्लोगिंग करता हूँ.

अब आप लोग समझ कए कि what is blog – ब्लॉग क्या होता है और blogging kya hai . अब जानते हैं कि ब्लोगिंग कैसे शुरू करें.

ब्लोगिंग शुरू करने के पहले आप यह जान लें कि आप किस विषय पर लिखना चाहते हैं. आपको किस विषय का ज्ञान है. उसके बाद आपको दो चीजों की आवश्यकता होगी. जिससे आप जल्दी से गूगल में रैंक करेंगी और जब आप गूगल में रैंक करेंगे तभी आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक आएगी और जब ट्राफिक आएगी तब आपको अर्निंग होगी और जब आपको अर्निंग होगी तब आपका और मन करेगा ब्लोगिंग करने में . ब्लोगिंग के लिए दो चीजें आवश्यक है ….

blogging kya hai और कैसे करें

१- Domain

डोमेन अर्थात हमारे साईट का नाम . हमारे साईट को रैंक करने में डोमेन का बहुत बड़ा योगदान होता है. इसीलिए जब आप डोमेन लें तो उसे अपने नीचे Niche अर्थात अपने टोपिक से मिलता – जुलता लें.

2- Hosting

होस्टिंग में आपका डाटा अर्थात आप जो काम ब्लॉग पर करते हैं वह उसमें सेव होता है.

इस तरह से आप ब्लोगिंग की शुरुआत कर सकते हैं. आपको मेरी यह पोस्ट blogging kya hai और कैसे करें कैसी लगी जरुर बताएं और इस तरह की पोस्ट तथा हिंदी कहानिया के लिए इस ब्लॉग को लाइक , शेयर और सबस्क्राइब जरुर करें और ब्लोगिंग कैसे शुरू करें यह जानने के लिए इस लिंक ब्लोगिंग कैसे शुरू करें पर क्लिक करें.

About the author

Hindibeststory

2 Comments

Leave a Comment